नजरिया-लक्ष्य

हमारा दृष्टिकोण

हम आशा, सहनशीलता व सामाजिक न्याय से परिपूर्ण संसार को ढूँढते हैं, जहाँ गरीबी पर काबू पाया जा चुका है और लोग आत्मसम्मान व सुरक्षा से जीवन व्यतीत कर सकते हैं।

हमारा ध्येय

‘केयर इंडिया‘ सामाजिक बहिष्कार रोकने, हाशिए पर रहने वाली स्त्रियों और बालिकाओं का सशक्तिकरण कर गरीबी उन्मूलन में सहायता प्रदान करती है।

हमारे कार्यक्रम का उद्देश्य

समाज में हाशिए पर रहने वाली स्त्रियों और बालिकाओ का सशक्तिकरण, सम्मानजनक जीवन तथा सुरक्षित परिवार का गठन। केयर इंडिया अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए 5 करोड लोगों के साथ से उनके स्वास्थ्य, शिक्षा एवं आजीविका के अधिकार दिलाने के लिए कार्य करेगी।

हमारे मूल मंत्र

एक बेहतर समाज के निर्माण हेतु प्रतिबद्धता हमारा प्रेरणा स्त्रोत है। केयर के मूल मंत्र हमारे कार्य को बताते हैं। ये हमें सामूहिक दृष्टिकोण व उद्देश्य के प्रति संगठित करते हैं।

सम्मान

केयर कर्मचारियों की कार्यशैली समाज की गरिमा, सामथ्र्य व सराहना को प्रतिबिंवित करती है। हमारे कार्यक्षेत्र में लोगो का विश्वास बनाए रखना और एक खुली विचारधारा का प्रवाह आवश्यक है।

निष्ठा

सामाजिक, नैतिक एंव संगठनात्मक नियमो का निर्वाह करना ‘केयर‘ के निहित एक सिद्वान्त है।

प्रतिबद्धता

प्रतिबद्धता विचार और योजनाओं की स्वीकृति प्राप्त करने के लिए उपयुक्त व्यक्तिक शैली व तकनीक का प्रयोग करना; कार्य, परिस्थितियों व व्यक्तिगत आचरण को समाहित करने के लिए
संशोधित करना।

श्रेष्ठता

अपने व दूसरो के लिए निष्पादन के मापदण्ड निर्धारित करना, सफलतापूर्वक वैचारिक आदान-प्रदान, श्रेष्ठता से कार्य संपन्न करने की जिम्मेदारी और जबावदेही, उत्कृष्टता के मानकों को व्यवहार मे लाना, पारस्परिक विचार-विमर्श एवं नैतिक एवं अखंडता को सुनिश्चित करना । व्यैक्तिक विशेषताओं, पृष्ठभूमि, जाति, संस्कृति, अवस्था, लिंग, अक्षमताओ, मूल्यों, जीवनशैली, परिप्रेक्ष्य तथा हितो की विविधता को ‘केयर‘ प्रोत्साहित करता है। कार्य करने के लिए ऐसे वातावरण का सृजन करना, जो विविधता को प्रोत्साहन दें।